Hot sexy Shayari Status in Hindi | सेक्सी शायरी हिंदी मे

Hot sexy Shayari in Hindi आपको प्यार करने से डर लगता है आपको खोने से डर लगता है कहीं आंखों में गुम ना हो जाये याद अब रात में सोने से डर लगता है


गम की नजर से देखिए दिल के असर तक है

अश्क भी एक लाल रंग के खूना से देखिए

तैराक भी कितने यहाँ प्यासा ही मर गए

संसार की नदी में भी जरा निकल के देखिए


खुशबू से भींग जाएगी यहां नाज़ुक सी उंगलियाँ

मेरे गुलाब को आप मसल के तो देखिए

ये हुस्न देखकर ही तो वो चाँद परेशान है

वो जल रहा है आपके अपने ही छत से देखिए


चाँद आया है फलक पे सूरज की जगह

हो गई अब ये धरती रहने की जगह

भीड़ लग जाती है दरिया पे अब शामों में

कहाँ ढूँढेगी ये तन्हाई बैठने की जगह

ईँट पत्थर के जंगलों में भटकती चिड़िया

जाने किस पेड़ पे है बाकी रहने की जगह

सो रहे हैं सभी लोग इस बस्ती में

जागता है कोई दर्द ही सोने की जगह


Hot sexy Shayari Quotes SMS

चाँद बदन को चूम रहा है दरिया गुमसुम लेटी है

पंखा झलती है हवाएँ हलचल थोड़ी होती है

बादलों की छत से सितारे देख रहे हैं आँखे फाड़े

बैठ गगन भी सोच रहा है धरती सुंदर लगती है

आज भी परदेश गया है सूरज शाम की गाड़ी से

दिन के रथ पे बैठके फिर से रात की रानी आई है

वक़्त का पहरा हुआ ढीला उसने पी ली इश्क की बोतल

मौसम भी आजाद हुआ है  मिलन की खुशबू उड़ती है


जान देने के सिवा एक और चारा है

इस जुदाई में लिखना भी एक सहारा है

शाम कट जाती है दरिया पे बैठे-बैठे

रात संग चाँद-सितारों का उजाला है

चंद रिश्तों को हम आज भी निभाते हैं

उनसे मिलना भी मेरे दिल को गँवारा है

भले दुनिया नहीं देखेंगे इन आँखों से

मौत की राह देखना भी एक नजारा है

Hot sexy Shayari in Hindi


WhatsApp Hot sexy Shayari in Hindi

वो आपका पलकें झुका के मुस्कुराना

वो आपका नजरें झुका के शर्मना वैसे

आपको पता है या नहीं हमें पता नहीं

पर इस दिल को मिल गया है उसका नजराना


वो मुसाफिर भी किसी मोड़ पे भला क्यूँ रूकता

जिसके पैरों में न जंजीरें थी वो भला क्यूँ रूकता

कहीं माजी के इशारे पे मैं पीछे न मुड़ा

छूटे लम्हों की राहों पे आख़िर मैं क्यूँ चलता

दश्त में खौफ था फैला किसी आँधी का

ऐसे माहौल में एक पत्ता भी भला क्यूँ हिलता

सामने आते ही जिसके मैं आईना बन गया

फिर मुझे खुद में उसके सिवा कोई क्यों मिलता


दर्द ये क्या है इस दर्द पे ही बात करो

और कुछ भी नहीं बस आँसुओं की बात करो

न ये दुनिया न ही रिश्ते न ही बंधन की

इन हवाओं में उड़ते पंछियों की बात करो

राज़ तन्हाई की और बोलियाँ निगाहों की

मुझसे कुदरत की ख़ामोशियों की बात करो

मुझे समझा न सकोगे कभी दोस्त मेरे

सोचने की नहीं अहसासों की बात करो


सारी दुनिया में मेरा नाम जो भी सुनता है

पहले हँसता है फिर दीवाना मुझे कहता है

तुमको फुरसत ना मिली कर्ज को चुकाने से

तेर पास आशिक के लिए कुछ नहीं बचता है

तोड़ ना पायी तुम पत्थर के इन दीवारों को

दिल तेरा आशियाँ के कब्र में ही मरता है

रूख हवाओं का जाने कब बदल जाएगा

मौसमे-बेवफा में दिल का दीया जलता है


 बंद आँखों में ये आँसू जलते गए जलते गए

नींद में भी दर्दे राह पे चलते गए चलते गए

आँसुओं से रंग दी हमने अपनी कितनी ही गज़ले

रो-रो के ही दिल की बातें लिखते गए लिखते गए

लोगों ने शम्मे जलाए जाने किन-किन चीजों से

हम दो शम्मे में आँसू को भरते गए भरते गए

तेरी आँखों में भी हमने आँसू ही तो देखे थे

इसलिए तो तुमसे मुहब्बत करते गए करते गए


जिसको भी चाहा रे तुमने खो गया रे खो गया

जिसको भी अपना माना छल गया रे छल गया

खोजने निकला था मैं एक आशियाँ सुकून का

मयक़दे में आके शराबी बन गया रे बन गया

अब न वो दुनिया रही अब न वो रिश्ते रहे

अब तन्हाई में मुहब्बत मिल गया रे मिल गया

ये दरो-दीवार मुझको कैद ना रख पाएगी

रूह तो पंछी है कोई उड गया रे उड गया


कोई दरवाज़े पे दस्तक देकर चली गई

आधी रातों में वो दिल को छूकर चली गई

मैं बरसता भी तो कैसे अबके सावन

वो अपनी ज़ुल्फों में मुझे लेकर चली गई

वो कुदरत के नज़ारों से भी सुंदर है

अपनी तस्वीर मेरे दिल को देकर चली गई

दिल धड़कता है धड़कने की सज़ा पाता है

मुझे दर्द भरी साँसे वो देकर चली गई

Hot sexy Shayari in Hindi

Whatsapp Status Hot sexy Shayari

जख्म जब मेरे सीने के भर जायेंगे

आंसू भी मोती बन कर बिखर जायेंगे

ये मत पूछना किस-किस ने धोखा दिया

वर्ना कुछ अपनो के चेहरे के चेहरे उतर जायेंगे


आज भी इंसानी दुनिया रीत में पुराने है

कितनी सदियाँ बीत गई आनेवाली हजारो है

जोड़ सकना भी ख़ुदा के हाथ की अब बात नही

क्या करेगा वो भला भी बेवफा हजारों है

कोई ना बतलाए किसी को किस तरह से वो जीए

जीने के हैं लाखों तरीके जीनवाले हजारो है

बातें करने में तो हमसे दुनिया वाले बेहतर है

राम-राम को रटने वाले रावण यहाँ हजारो है


मेरे जीवन में बड़ी दूर तक वीरानी है

इस जमाने को इस बात पे हैरानी है

एक मुद्दत से खुला है मेरा दरवाज़ा

चोर तक को यहाँ आने में परेशानी है

इस फ़कीरी में भला कौन साथ देता है

लोग कहते हैं कि यह मेरी नादानी है

इश्क मुझको है तुमसे चीज़ो से नही

दिले-नाचीज़ है कि तू भी दीवानी है


ठहर जा ऐ सावन ठहर जा ऐ बादल

बहने दे निगाहों से थोड़ा तो काजल

छोड़के ओ फरिश्ते तुम जा न सकोगे

जब चिड़िया तुम्हीं से हुई है रे घायल

जानती हूं तुझे जाने कितनी सदी से

जुदाई में भीगा है बरसों से आँचल

अब तू ही सहारा है ओ रोती दरिया

तेरे बिन किधर जाएगा तन्हा सागर

Hot sexy Shayari in Hindi


Hot love sexy Shayari SMS in Hindi

काश फिर वो मिलने कि वजह मिल जाएं

साथ वो बिताया वो पल मिल जाते चलो

अपनी अपनी आंखों बंद कर लें क्या पता

खाव्बो में गुजरा हुआ कल मिल जाएं


वो भी क्या रातें थी जब खूब जगा करता था

क्या ख़बर थी कि मैं खुद से दगा करता था

जो हकीकत भी नहीं था फसाना भी नहीं

मैं कहीँ बीच की मंजिल पर रहा करता था

फासलों में भी कई तार थे जुड़ने के लिए

बस यही सोचके तुम्हें याद किया करता था

कुछ शिकायत थी तुमसे भी खुद से भी

जाने कुछ दर्द था गजल में लिखा करता था


एक श्मशान से आसमान से गुजरते हुए

हमने देखा है सितारों की चिता जलते हुए

मर चुके सावन को काँधे पर ले चली है हवा

बादलें संग चल रहे है बहुत रोते हुए

एक दरिया में डूब गया था चाँद का हुस्न

और आईना टूट गया था उसे देखते हुए

इस अदा से मेरे दिल में गुलाब खिला

मुझे अच्छे लगे ये काँटे सभी चुभते हुए


मैं परिंदों की तरह आस्मा में उड़ता था

आठों पहर तेरे ख़यालों में डूबा रहता था

मुझपे इतनी तो इनायत की सनम तुमने

मुस्कुराती थी जब तुमको सनम कहता था

तू जो खोयी तो ये सारा जहां वीरान हुआ

अब वो जोगी हुआ जो कल तेरा दीवाना था

मैं तो टुकड़ो को जोड़ता हूँ कि तुझे देखूँ

तू ही तस्वीर थी और दिल मेरा आईना था


Hot sexy Shayari in Hindi

दीवाने हैं तेरे नाम के इस बात से इंकार नहीं

कैसे कहां कि तुमसे प्यार नहीं कुछ तो कसूर है

आपकी आंखों का हमें अकेले तो गुनहगार नहीं नहीं


 ये जान गँवा दी ये जुबां गँवा दी

हमने तेरे इश्क में दो जहान गँवा दी

सीने में पड़े थे दिल के हजार टुकड़े

एक नज़र से तूने उनमें आग लगा दी

मेरे लब चूम लेते माहजबी को मगर

उसने हथेलियो मे रूखसार छुपा ली

जब चाँद को देखा तो हमने अचानक

अपने ही आशियाँ का चिराग़ बुझा दी


जान कितनी है बची साँस कितनी है बची

दिल बता दे कि मेरी प्यास कितनी है बची

क्या जरूरत है तुझे गर्दिशों के जुग़नू की

हुस्न की ये रोशनी तेरे पास कितनी है बची

जब भी तुम याद करोगे मैं चला आऊँगा

मेरे अंदर तेरी ये तलाश कितनी है बची

कभी शायद मेरी भी गमे-दुनिया सँवर जाए

मेरी जाँ तेरे आने की आस कितनी है बची


मुझे दुनिया का दस्तूर निभाना नही आता

जान देना ही आता है जान लेना नही आता

कोई भरता नही अपने दिल का खाली पन्ना

आँसुओ से यहाँ सबको लिखना नही आता

कैसा जंगल है ये समाज देखिए तो जहाँ

घोंसलों में पंछियों को रहना नहीं आता

रोज़ आते हैं सभी लोग यहाँ दैरो-हरम

माँगना आता है सबको बाँटना नहीं आता


बीती बातों को दुहराने से फ़ायदा क्या है

बेवफा होना था उसे वो हुआ बुरा क्या है

किस तरह बाँटता है ऐ खुदा बंदों को सिफ़त

तेरी दुनिया में ये कम और ज़्यादा क्या है

लोग जब दिन-रात प्यार के गीत सुनते हैं

फिर इस जहान का ये खून-ख़राबा क्या है

कोई देखेगा वो जो मन में बसा रखेगा

ये मेरे सामने हो रहा रोज़ तमाशा क्या है


शाम तो रख लिया अब रात को मैं कैसे रखूँ

इतने उदास लम्हों को एक दिल में मैं कैसे रखूँ

हाथ आए थे चंद अश्क छिटक के भाग गए

अपनी आँखों में उसे बाँध कर भला मै कैसे रखूँ

जो हवा के साथ मेरे दिल तक चले आए है

इन गर्द-गुबारों को इस जिगर में अब मैं कैसे रखूँ

बूँद बनकर वो मेरे जिस्म मे भींज गया है

ऐसे सावन को तेरे तोहफ़े के लिए मै कैसे रखूँ

Hot sexy Shayari in Hindi

WhatsApp Hot sexy Message Shayari in Hindi

गम ने हंसने न दिया जमाने ने रोने न दिया

इस उलझन ने चैन से जीने न दिया थक 

के जब सितारों से पनाह ली नींद आई तो

तेरी याद ने सोने न दिया


अभी बरसात है, कभी रूकती कभी गिरती हुई

और एक शाम है भीगी हुई सी ढलती हुई

कौन जाने कि ये घटाएँ कहाँ तक जाएँगी

जाने किस मोड़ पे बेवफा होगी हवा चलती हुई

जिस जगह कोई तलाशेगा वज़ूद अपना

वहीं मिल जाएगी एक दरिया उसे रोती हुई

ये फलक़ कितने मुसाफिरो का आशियाना है

फिर भी चिंगारियाँ हैं उसके दामन में जलती हुई


मैं तो पीती हूँ कि साँस लेने में दिक्कत ना हो

कोई तो शख़्स हो जिसे मुझसे शिकायत ना हो

वो मिला था कितनी बार मैं गिन ना सकी

अब जो मिल जाए तो फुरक़त की नौबत ना हो

रूह जि़ंदा है मगर ज़िस्म एक बोझ सा है

अपने शानो पे किसी की ऐसी मैयत ना हो

तिश्नगी है तमन्ना है और अब तन्हाई भी है

मेरी महफ़िल में तबस्सुम की कोई आहट ना हो


उदास रात का मंजर है कैसा धुंधला-धुंधला

देखिए आज तो मौसम है कुछ बदला-बदला

मायूस अंधेरे के साये में जी रहा हूँ तन्हा

जाने कब चाँद दिखेगा मुझे उजला-उजला

इस ज़माने के गुलशन को गौर से देखा

मुझे हर फूल मिला घर में मसला-मसला

हम तो कहते हैं आपसे है जनम का रिश्ता

आप क्यों इस प्यार को कहती हैं पहला-पहला


हम वस्ल के वहम में जीये जाएँगे

हिज़्र के दर्द अलम से पीये जाएँगे

तेरी यादों की रातों में रोएंगे हम

इश्क में ये सितम भी सहे जाएँगे

हद से ज़्यादा ये दर्द जब बढ़ जाएगा

हम ख़ामोशी को तोड गजल गाएँगे

जब फुरक़त के सदमे मिले हैं हमें

तुमसे मिलने की दुआ बस माँगेंगे


Hot sexy Shayari in Hindi

क्यो किसी से इतना प्यार हो जाता है

एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है

लगने लगने है अपने भी पराये और

एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है


शीशे के खिलौनो से खेला नही जाता

रेतों के घरौंदों को तोड़ा नहीं जाता

आहिस्ते से आती हवा को कैसे कहूँ मैं

कि बेशरमी से बदन को छुआ नहीं जाता

जलते हुए दिलो की निशानी जो दे गया

कुछ ऐसे चिरागो को बुझाया नही जाता

बनती हुई तस्वीर तेरी चाँद बन गई

अब मेरे तसव्वुर का उजाला नही जाता


तन्हाई की फिज़ा मे आशियाँ की जिंदगी

दुनिया की जिंदगी से परेशाँ है जिंदगी

मैं जिंदगी से उठता धुँआ बुझा-बुझा

खाकों के रहगुजर पे नश्तर है ज़िंदगी

आख़िर मुहब्बतों के दरम्याँ हैं हिज्र ही

जहाँ दर्द ही दवा है और जहर है जिंदगी

अब तो करीब आओ कि मुद्दतें हुए मिले

जब तक तू मेरे पास है दिलबर है जिंदगी


समर्पित है ये प्यार एक मूरत को

भूल न पाऐंगे उस दर्द भरी सूरत को

उसकी तस्वीर है मेरी इन निगाहो मे बसी

अश्क ही चाहिए जलने के लिए दीपक को

ये मेरा दर्द मेरे सीने में दफ़न ही रहा

और क्या चाहिए मरने के लिए आशिक को

चाहतें ना मिली तो क्या बेरूखी ही सही

वो गज़ल है जो मिली है कोरे कागज़ को


Hot sexy Shayari in Hindi

ग़म ने हंसने न दिया जमाने ने रोने न दिया

इस उलझन ने चैन से जीने न दिया थक के

जब सितारों से पनाह ली नींद आई तो तेरी

याद ने सोने न दिया


मेरी उदास शाम की हालत तो देखिए

ढलते हुए शबाब की सूरत तो देखिए

अश्को मे डूबता हुआ जलता हुआ दिल है

सागर में उतरता हुआ सूरज तो देखिए

जैसे उड़ता हुआ परिंदा आकाश चीड़ता हो

सीने में उठे इस दर्द की ताकत तो देखिए

तन्हा सा आधा चाँद फलक़ पे जला है

आस्मा की भीड मे ये आशिक तो देखिए


दिल से गुजरे है इस तरह से हमदर्द सनम

दर्द ही दर्द ही दे गए हैं वो हमदर्द सनम

क्या खबर थी कि आप इतना दर्द देते हैं

हम तो समझे थे कि आप भी है बेदर्द सनम

बाँटकर देखिए हमसे भी अपने गम को

दिल के मसले पे न बनिए खुदगर्ज़ सनम

आपकी हूँ और हमेशा आपकी ही रहूँ

यही ख़्वाहिश है आप समझें मेरा दर्द सनम


रातो मे सुनी है मगर देखी तो नही

एक आह सी आती है, उनकी तो नहीं

अपना हुनर तराशा है जिसके हुस्न से

मेरी इन गज़लों मे वही अक़्स तो नहीं

दिल को ये दिलासा है वो है जमीं पे

ये चाँद उसी दिलदार का साया तो नहीं

जिस अज़नबी ने मुझको तलबगार किया है

उनसे मेरे रूह का कोई रिश्ता तो नही


Hot sexy Shayari in Hindi

हूँ परिंदा भी नही और आस्मा भी नही

लेकिन मेरा दिल इन दोनों से कम भी नही

मेरा सबकुछ लुट गया मै वो खुशनसीब हूँ

आज दुनिया में कुछ खोने का गम भी नही


मुफलिसी मेरा ख़ुदा है शफ़ाक़ामस्ती इबादत है

जिंदगी के बारे मे अब कोई वहम भी नही

सबकी तरह बेदर्द थे हम जब इश्क से बेगाने थे

जिसने दर्दे-दिल दिया, आज वो सनम भी नही

दुनिया को हम इस कदर दिल से ठुकराते है

इस खून की बस्ती में बस आँसू बहाते है

जिनके बगैर हमको आता नहीं चैन कभी

उनकी ही तरफ हम तो नजरें न उठाते है

जीने को आए हैं पर आखिर क्यूँ आए है

ऐसे ही सवालों को हम सोचते रह जाते है

दम मेरा है घुटता इस भीड़ मे अब रहके

बस चाँद संग तन्हाई में हम साँस ले पाते है


जो अपने घर से जुड़े हैं एक मुद्दत से

वो ही डरते रहे बहुत इस मुहब्बत से

पत्थरों के मुहल्ले में सभी पैदा हो गए

उबर न पाए कभी वो बुतों की हसरत से

हर एक रिश्ते का नाम बस तिजारत है

जमाना खाली है यहाँ दिलों की कुरबत से

कहीं से आके कोई छीन न ले दौलत को

मरे हैं शहर में कई लोग इस दहशत से


हर आदमी मे वफा हो ऐसा हो नही सकता

गुलशन का हरेक फूल खुशबू दे नहीं सकता

तुम मुझसे मुखातिब हो ऐसे क्यूँ देखते हो

क्या मेरे सिवा तुमको कुछ और नहीं दिखता

मेरा दर्दो-बयां सुनकर ऐसे वो हँस पड़े

जैसे कि रोने का उन्हें मौका नहीं मिलता

सब साथ चल पड़े थे मगर राह तो कई थे

हर मोड पे बिछड़ा हुआ फिर साथ नहीं चलता


दुनिया के पत्थरों का ऐतबार न करो

आईने के टूटने का इंतजार न करो

वो इश्क क्या करे जो रस्मों को निभाते है

उस बेवफा का तूम भी दरकार न करो

ये चाँद आसमान की सिर्फ मिट्टी नहीं है

बेदर्द निगाहों से उसका दीदार न करो

ऐ मेरे गमे-दिल तू जीने का हौसला रख

यूँ मौत की तमन्ना तूम सौ बार न करो

Hot sexy Shayari in Hindi

बहुत खूब सूरत है आखै तुम्हारी

इन्हें बनो दो किस्मत हमारी

हमें नहीं चाहिये जमाने की खुशियां

अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हरी


छूते रहे वो दिल मेरा गज़ल की आग से

जलते रहे हम रातभर शायर की बात से

कहने लगे कि उनकी नज़र यूँ उदास है

पलकों में रखे अश्क न गिर पाते आँख से

जाने की जिद पकड़ लिए वो आधी रात को

फिर रूक गए अचानक वो अपने आप से

यूँ रोज ही जवाँ रहे महफिल इसी तरह

और आप गजल गाएँ लबों के साज से


ऐसा लगता है मुझे तू रातभर सोयी नहीं

खा कसम मेरी कि तू रातभर रोयी नहीं

बन गयी है जुल्फें तेरी उजड़ी-उजड़ी सी बहार

आँधियों में घिर के भी तू चमन से गई नहीं

ये तेरा उदास चेहरा, ये तेरी गमगीन आँखें

आने से पहले जरा तू आईने में झाँकी नहीं

हूँ मैं हैराँ देखकर कि क्या ये तेरा हाल है

इश्क में मुझपे कभी ऐसी कयामत आती न


Hot sexy Shayari in Hindi

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है 

हर एक आंसू समंदर नजर आता है

कहां रखूं मैं शीशे सा दिल अपना 

हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता है


देनेवाले दे ही देंगे, जान छोटी चीज है

रू-ब-रू तेरे हर एक सामां छोटी चीज है

मेरे दिल पे छा गया है इश्क का ऐसा जुनू

अब जिंदगी का अरमां छोटी चीज है

हँसना-रोना संग-संग चलता है एक सूरत में

आईने-गर्दिश में ये अंजाम छोटी चीज है

इतने खाए जख्म कि लगता है अब हमको

गजलों में इन सबका बयां छोटी चीज है


मेरे खातिर दुनिया की महफिल नही

वहाँ पे मैं नहीं, जहाँ पे दिल नही

इश्क सच्चा हो तो वो तमाशा क्यूँ बने

दर्द ऐसा नुमाइश के काबिल नही

आज की रात तू मेरे पहलू में नही

चाँद से आज कुछ भी हासिल नही

डूबकर जी गया हूँ मैं अपने अंदर

मैं जमाने की लाशों में शामिल नही


घूँघट उठा ऐ अज़नबी सूरत दिखा ज़रा

पर्दे की ओट में न छिप, बाहर निकल ज़रा

दिल के सफ़र में कट गई रातें जगी हुई

मुद्दत हुए सोया नही लोरी सुना ज़रा

बढ़ती हुई ये धड़कने होती हुई तेज साँस

पसीने-पसीने हो गया आंचल डुला ज़रा

राहत मिलेगी चंद पल तुझको निहारकर

तस्वीर के मानिंद ही आँखों में आ ज़रा

Hot sexy Shayari in Hindi

लम्हो की खुली किताब है ज़िन्दगी

ख्यालों और सांसों का हिसाब है ज़िन्दगी

कुछ जरूरतें पूरी कुछ ख्वाहिशे अधूरी

इन्हीं सवालों के जवाब है जिन्दगी


तन्हा ही रहने की आदत है हमको

तो लोगों से मिलके क्या करें

अपनी खबर जब हमको नहीं है

तो किसके बारे में क्या कहें

जब थे चले हम अपने सफर पे

कोशिश तो की थी मिलने की सबसे

लेकिन हमें तब तज़रबा हुआ था

कि इन बेवफाओं से क्या मिलें

देखा है जबसे नंगी हकीकत

कपड़े पहनने कम कर दिए हैं

जरूरत है आखिर में एक कफन की

तो जिस्म सजाके क्या करे

Hot sexy Shayari in Hindi


दुनिया ने दीवानों को सदियों से है ठुकराया

आज़ाद परिंदों को कोई न समझ पाया

चलते हुए राहों पे देखूँ मै सुनूँ भी तो क्या

जब शहर के लोगो मे ये दिल ही ना मिल पाया

हम तुमसे जुड़े थे तो रोने में अदा भी थी

अब टूट गए हैं तो आँसू ना निकल पाया

अपने भी पराए भी कुछ दूर के साथी हैं

हमने तो यहाँ सबको महरूमे-वफा पाया


यूँ मिले कि मुलाक़ात हो ना सकी

होंठ काँपे मगर कोई बात ना हो सकी

मेरी खामोश निगाहें हर बात कह गयी

और उनको शिकायत है कि कोई बात ना हो सकी

वो शख्स मिला तो महसूस हुआ मुझे

मेरी ये उम्र मोहब्बत के लिए बहुत है कम

Hot sexy Shayari in Hindi


Hot sexy Shayari in Hindi

तुम्हारी जिद बेमानी है

दिल ने हार कब मानी है

कर ही लेगा वश में तुम्हे

आदत इसकी पुरानी है


 एक अजीब सा मंजर नज़र आता है

हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं

कहाँ रखूं मै शीशे सा दिल अपना

हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता है

Sorry Statue Shayari in Hindi

Leave a Reply